सवेरे ही खो गए…

Nandini/ November 3, 2020/ Love, कविता/Poetry/ 4 comments

शौक जीने का रख के निकले थे जो घर से, रास्ते में दो पल उनसे मिले, शौक़ीन हो गए चूज़े के उड़ने को आसमान क्या दिखाया, पंछी बनते ही घोंसलों से उड़ गए एक पल जिनके बिना सांस भी ना आती थी, किसी और के हो कर जीता छोड़ गए जो आंख के आँसू को मोती थे कहते, कोरों में

Read More